Email - info@kisansuvidha.com

Contact no. – 07999722204

0
  • No products in the cart.
Top
Introduction ( प्रस्तावना ) - Kisan Suvidha
1336
page-template-default,page,page-id-1336,mkd-core-1.0,wellspring-ver-1.2.1,mkdf-smooth-scroll,mkdf-smooth-page-transitions,mkdf-ajax,mkdf-blog-installed,mkdf-header-standard,mkdf-sticky-header-on-scroll-down-up,mkdf-default-mobile-header,mkdf-sticky-up-mobile-header,mkdf-dropdown-default,mkdf-header-style-on-scroll,mkdf-full-width-wide-menu,mkdf-search-dropdown,mkdf-large-title-text,wpb-js-composer js-comp-ver-5.0.1,vc_responsive

Introduction(प्रस्तावना)

भारत एक कृषि प्रधान देश हैं। जिसकी लगभग आधे से ज़्यादा आबादी गावों में निवास करती हैं। ये गांव कुछ शहरी क्षेत्रो से लगे हुये हैं। कुछ बहुत अधिक जंगलो के अंदर सुदूर क्षेत्रों में स्थित हैं। गांव जो शहर से लगे हुए हैं,ये आधुनिकता एवं विकास की चकाचौंध के कारण अपनी पहचान खोते जा रहे हैं। और ज़मीनो के दाम अत्यधिक बढ़ने एवं कृषि कार्यो में जानवरो, चोरी, एवं मजदूरो की समस्याओ से जूझकर अंततः कृषि से विमुख होकर अन्य व्यवसायो में अग्रसर हो रहे हैं। जिससे कृषि ऐसे क्षेत्रो में लाभ का व्यवसाय न होकर घाटे का सौदा होती जा रही हैं। इसी प्रकार अन्दर जंगलो में गावों में निवास करने वाले आदिवासी या पारंपरिक ढ़ंग से कृषि कार्य  करने वाले भी पूर्णतः मौसम आधारित कृषि करके अपने लिये ज्यादा लाभ नही कमा पा रहे हैं। परंतु चुकिं उनकी  सीमित आवश्यकतायें, लागत आदि सभी कम हैं अतः उनका भी घर परिवार अच्छा चल रहा हैं। परंतु जैसे – २ परिवार के बच्चे पढ़ाई व अन्य कारणो से शहरों की तरफ जाते हैं वे पुनः लौटकर खेती के व्यवसाय को नही अपनाते। वर्तमान में प्रधानमंत्री जी द्वारा लगातार कौशल विकास कार्यक्रम की विस्तृत कार्य योजना तैयार की है , जिससे उन्हे, गावं में रहकर कृषि सम्बन्धित व्यवसायों को करने हेतु तैयार किया जा सके  जिससे गावों में आर्थिक समृधि आये एवं कृषि को बढ़ावा मिले|

शासन स्तर पर कृषि की तरफ वापस लोगो का रूझान पैदा करके उन्हे कृषि या कृषि से सम्बन्धित व्यवसायों में लगाने हेतु लगातार प्रयास किये जा रहे हैं। इसमें प्रमुखता से यह बात सामने आती है कि ग्रामीण युवाओ को वापिस कृषि एवं कृषि सम्बन्धित व्यसायों  के लिये गावं में ही अवसर उपलब्ध करवाये जायें जिससे वे कृषि सम्बन्धित व्यवसायो को अपनाकर गावों एवं  किसानो के उत्थान के लिये कार्य करने हेतु प्रेरित हों। जिससे कृषि लागत कम हो, किसानो की आय कृषि एवं कृषि आधारित व्यवसायों से बढ़े|

इन्ही सब बातो को ध्यान में रखकर हमने प्रथम प्रयास में, ग्रामीण युवाओ को इनटरनेट व कम्प्यूटर के माध्यम से जोड़कर, उन्हे कृषि एवं कृषि व्यवसाय करने हेतु सम्बन्धित जानकारियाँ,मार्गदर्शन एवं प्रशिक्षण Portal के माध्यम से उपलब्ध करवाया जावे |

Show Buttons
Hide Buttons