Agriculture Crops (खाद्य फसल) / Chickpea (चना) / Green Pea (मटर) / Lentil (मसूर) / Linseed (अलसी) / Vegetable crops(वेजिटेबल क्रॉप))

उतेरा खेती की आवश्यकता एवं महत्व

Posted on:

वर्तमान मे देश की बढ़ती जनसंख्या को भोजन उपलब्ध कराने के लिये सघन खेती ही एकमात्र विकल्प बनता जा रहा है, क्योकि बढ़ती जनसंख्या के दबाव के कारण […]

Chickpea (चना) / Special category

चने की उन्नत किस्में

Posted on:

चने की उन्नत किस्में इस प्रकार है:- १.पूसा 2085 (काबुली) विमोचन वर्षः 2013 (एस.वी.आर.सी., दिल्ली) अनुमोदित क्षेत्रः राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र, दिल्ली परिस्थितियांः सिंचित अवस्था औसत उपजः 20 कुन्तल/हेक्टेयर […]

Chickpea ( चना ) / Chickpea (चना) / M.P. Farming (मध्यप्रदेश की फसलें) / Package of Practice / Special category

चना (chickpea) का भरपूर उत्पादन हेतु वैज्ञानिक तकनीक-मध्यप्रदेश

Posted on:

परिचय (Introduction) चना एक मुख्य रबी दलहनी फसल है म.प्र. में लगभग 25.6 लाख हेक्टेयर में चने की खेती की जाती है जिससे लगभग 17.30 लाख टन उत्पादन […]

Chickpea ( चना ) / Chickpea (चना) / M.P. Farming (मध्यप्रदेश की फसलें) / Pest and Diseases (फसलों के कीट एवं रोग) / Special category

चना के प्रमुख रोग व कीट ( Major diseases and pests of Chickpea )

Posted on:

रबी की दलहनी फसलों में चना मध्यप्रदेश के कृषि वैज्ञानिकों तथा कृषकों का सर्वाधिक ध्यानाकर्षण का केन्द्र है। यही कारण है कि चने का महत्व एक अच्छी आमदानी […]

Chickpea (चना) / Diseases (रोग) / Pest and Diseases (फसलों के कीट एवं रोग) / Pulses (दालें) / Special category

चने में स्तंभ गलन (स्केलेरोटीनिया) रोग एवं इसका प्रबंधन

Posted on:

प्रिचयन हाल के बदलते परिवेश में सरसों उगाने वाले क्षेत्रों में स्तंभ गलन रोग ( स्केलेरोटीनिया स्केरोशियोरम ) आर्थिक रूप से चना में उपज को कम करने वाला […]

Chickpea (चना) / Package of Practice

चने की खेती-उत्तरप्रदेश

Posted on:

चना एक बहु उपयोगी दलहनी फसल है । चने में 21.1 प्रतिशत प्रटीन, 4.5 प्रतिशत, वसा 61.35 प्रतिशत कार्बोहाइड्रेट तथा इसके अतिरिक्त पर्याप्त मात्रा में कैल्शियम, आयरन, राइबोफ्लेविन […]