0
  • No products in the cart.
Top
Floriculture (पुष्प कृषि) Archives - Kisan Suvidha
4962
archive,category,category-floriculture-mp,category-4962,mkd-core-1.0,wellspring-ver-1.2.1,mkdf-smooth-scroll,mkdf-smooth-page-transitions,mkdf-ajax,mkdf-blog-installed,mkdf-header-standard,mkdf-sticky-header-on-scroll-down-up,mkdf-default-mobile-header,mkdf-sticky-up-mobile-header,mkdf-dropdown-slide-from-bottom,mkdf-search-dropdown,wpb-js-composer js-comp-ver-4.12,vc_responsive

Floriculture (पुष्प कृषि)

गुलाब की खेती

सुगंधित गुलाब की खेती / Rose farming

पौधे का परिचय श्रेणी (Category): सगंधीय समूह (Group):कृषि योग्य वनस्पति का प्रकार: झाड़ी वैज्ञानिक नाम: रोसा सेन्टिफोलिया सामान्य नाम: सुगंधित गुलाब   गुलाब...

गैलार्डिया की खेती

गैलार्डिया (नवरंगा) की व्यावसायिक खेती-मध्यप्रदेश

परिचय गैलार्डिया पुष्प को नवरंगा के नाम से भी जाना जाता है |  इसके पुष्प पीले, नारंगी, लाल तंबिया मिश्रित गहरे...

गुलदाउदी की खेती

गुलदाउदी की उन्नत खेती / सेवन्ती की खेती / Chrysanthemum

परिचय गुलदाउदी को सर्दी के मौसम की रानी कहा जाता है क्योकि सर्दियों में उगाए जाने वाले फूलों में यह बहुत...

सूर्यमुखी की खेती

Sunflower farming in Madhya Pradesh – सूर्यमुखी की खेती

परिचय(Introduction) मध्यप्रदेश में सूर्यमुखी की खेती तीनों मौसम में की जा सकती है। खरीफ में मध्यप्रदेश के उन क्षेत्रों में इसकी...

कुसुम की खेती

कुसुम की खेती ( Safflower cultivation practices Madhya Pradesh)

परिचय (Introduction) कुसुम/करडी रबी मौसम में उगायी जाने वाली बहुउपयोगी तिलहनी फसल हैं। इसके दानों में 29 से 33 प्रतिशत तेल,...